Free Christian classic ebooks for you to download:
Browse books now

Multilingual Online Bible


Urdu (Devanagari)
Type your search text here






Choose a Bible


Select book or range
Chapter


Urdu (Devanagari), Psalms 113

1    रब्ब की हम्द हो! ऐ रब्ब के ख़ादिमो, रब्ब के नाम की सिताइश करो, रब्ब के नाम की तारीफ़ करो।

2    रब्ब के नाम की अब से अबद तक तम्जीद हो।

3    तुलू-ए-सुब्ह से ग़ुरूब-ए-आफ़्ताब तक रब्ब के नाम की हम्द हो।

4    रब्ब तमाम अक़्वाम से सरबुलन्द है, उस का जलाल आस्मान से अज़ीम है।

5    कौन रब्ब हमारे ख़ुदा की मानिन्द है जो बुलन्दियों पर तख़्तनशीन है

6    और आस्मान-ओ-ज़मीन को देखने के लिए नीचे झुकता है?

7    पस्तहाल को वह ख़ाक में से उठा कर पाँओ पर खड़ा करता, मुह्ताज को राख से निकाल कर सरफ़राज़ करता है।

8    वह उसे शुरफ़ा के साथ, अपनी क़ौम के शुरफ़ा के साथ बिठा देता है।

9    बाँझ को वह औलाद अता करता है ताकि वह घर में ख़ुशी से ज़िन्दगी गुज़ार सके। रब्ब की हम्द हो!


Psalms 112    Choose Book & Chapter    Psalms 114


Licensed to Jesus Fellowship. All Rights reserved. (Script Ver 2.0.2)
© 2002-2021. Powered by BibleDatabase with enhancements from the Jesus Fellowship.